Homeकृषि समाचारसोयाबीन की इन किस्मो के उत्पादन से आप भी बन जाओंगे मालामाल,...

सोयाबीन की इन किस्मो के उत्पादन से आप भी बन जाओंगे मालामाल, यह किस्म 4 गुना ज्यादा का देंगी आपको उत्पादन

सोयाबीन की इन किस्मो के उत्पादन से आप भी बन जाओंगे मालामाल, यह किस्म 4 गुना ज्यादा का देंगी आपको उत्पादन प्रतिकूल मौसम की वजह से उत्पन्न होने वाली परिस्थिति के कारण सोयाबीन की खेती में करने में कठिनाई आती जा रही है। सोयाबीन की फसल में फैलने वाले रोग एवं कम वर्षा के कारण सोयाबीन की पैदावार प्रभावित होती है। जिसके चलते किसानों की आय प्रभावित हो रही है। कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों की इन्हीं समस्याओं को ध्यान में रखते हुए अब सोयाबीन की कई ऐसी किस्में इजाद की है, जो कम वर्षा में भी अच्छा उत्पादन देगी।

सोयाबीन की इन किस्मो के उत्पादन से आप भी बन जाओंगे मालामाल

आपकी जानकारी के लिए बता दे की इंदौर के सोयाबीन अनुसंधान केंद्र में अखिल भारतीय समन्वित सोयाबीन अनुसंधान परियोजना की बैठक के बाद सोयाबीन की ऐसी किस्मों NRC soybean varieties for MP का चयन किया गया, जो मालवा मध्य प्रदेश की मौसम परिस्थिति के अनुसार अच्छी पैदावार दे सकती है। बैठक में सोयाबीन अनुसंधान केंद्र में ही विकसित सोयाबीन की किस्म एनआरसी 150 किस्म के उपयोग की अनुशंसा पहचान समिति ने की। इसकी विशेषता यह है कि यह मात्र 91 दिन में परिपक्व होती है। यह सोया गंध के लिए जिम्मेदार लाइपोक्सीजिनेज-2 एंजाइम से मुक्त है। यह किस्म पूरी तरह से रोग प्रतिरोधी भी है।

जानिए कौन कौन सी है सोयाबीन की वैरायटी 

आपको बता दे की सोयाबीन अनुसंधान संस्थान की कार्यवाह निदेशक डा. नीता खांडेकर ने बताया कि ‘किस्म पहचान समिति’ ने देश के तीन कृषि जलवायु क्षेत्रों में खेती के लिए उपयुक्त किस्म NRC soybean varieties for MP वीएलएस 99 (उत्तरी पहाड़ी क्षेत्र के लिए), एनआरसी 149 (उत्तरी मैदानी क्षेत्र के लिए) और मध्य क्षेत्र के लिए 4 किस्में एनआरसी 152, एनआरसी 150, जेएस 21-72 एवं हिम्सो-1689 की पहचान की है। इस वर्ष सोयाबीन अनुसंधान संस्थान सोयाबीन की तीन किस्मों की पहचान करने में सफल रहा।

NRC 152 किस्म से होता है बम्फर उत्पादन 

soyabeen new1
सोयाबीन की इन किस्मो के उत्पादन से आप भी बन जाओंगे मालामाल, यह किस्म 4 गुना ज्यादा का देंगी आपको उत्पादन

सोयाबीन की यह किस्म आपको 4 गुना ज्यादा का उत्पादन देंगी सोयाबीन की NRC 152 किस्म NRC soybean varieties for MP आईसीएआर-भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान, इंदौर (मध्य प्रदेश) द्वारा विकसित की गई है। एनआरसी 152 नामक किस्म अतिशीघ्र पकने वाली (90 दिनों से कम), खाद्य गुणों के लिए उपयुक्त तथा अपौष्टिक क्लुनिट्ज़ ट्रिप्सिंग इनहिबिटर और लाइपोक्सीजेनेस एसिड -2 जैसे अवांछनीय लक्षणों से मुक्त है। जो आपके दवाई खाद का पैसा बचाएंगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular