Trendingबॉलीवुड न्यूज़ब्रेकिंग न्यूज़

पिता चखता है जवान बेटी की जवानी , जाने कुछ अजीबो गरीब संस्कार

पिता बना लेता है अपनी दुल्हन और फिर मनाता है – दुनिया में बच्चों का पालन-पोषण उनके पिता करते हैं। इस समाचार लेख में अभी इसका उल्लेख किया गया है। पिता अपनी बेटियों के छोटे होने पर उनके पति बन जाते हैं।

दुनिया में कई तरह के रिवाज़ और कुरीतियां हैं जिन्हें आप देख और सुन सकते हैं। इसी तरह की प्रथाएं यहां हो रही हैं। कई महिलाओं का जीवन कदाचार से तबाह हो गया है।

Beti ki jawani :- बांग्लादेश की मंडी जनजातियों का एक अजीबोगरीब रिवाज है, जो आपको हैरान कर देगा। जब बच्चा छोटा होता है, तो पिता उसकी देखभाल करता है और उसका पति बन जाता है।

Also Read

इलेक्टॉनिक सेगमेंट में धूम मचाने आ रही है ये बाइक

यह एक अजीब परंपरा है, लेकिन यह सच है। मंडी जनजाति के पुरुष युवा विधवाओं से युवा होने पर शादी कर लेते हैं। फिर उनकी बेटियां उस व्यक्ति से शादी करेंगी। जब कोई पुरुष इस समुदाय में कम उम्र की विधवा से शादी करता है, तो उसकी सौतेली बेटी उसकी पत्नी बन जाती है। वह उन्हें कम उम्र से ही पिता कहती हैं।

बाद में वह उसका पति बन जाता है। यह प्रथा आज ही नहीं, सदियों से चली आ रही है।

af 1

इस कुप्रथा में शामिल होने के लिए, पिता को सौतेली माँ होना चाहिए। यह तब होता है जब विधवाएं किसी अन्य पुरुष से विवाह करती हैं। वह पुरुष फिर उस महिला के पहले विवाह से बालिका का विवाह करता है।

इस तर्क के अनुसार कम उम्र का पति अपनी पत्नी और बेटी दोनों को लंबे समय तक सुरक्षा प्रदान करता है।

इस कुप्रथा से मंडी जनजाति की कई लड़कियों का जीवन बर्बाद हो चुका है। वे उन्हें बचपन से ही पिता मानते हैं। वे उसे अपने पति के रूप में स्वीकार करने के लिए मजबूर हैं।

Alos Read

अब बिजली के बिल से मिलने जा रहा है छुटकारा, लागू होने वाला है नया नियम

MX Player पर जुलाई में रिलीज होगी ये Web Series, देखकर उड़ जाएंगे होश, निकाल जाएगा पानी

50 के नोट पर लिखा 786 नंबर तो तुरंत 3 लाख रुपये में करें बिक्री, जानिए बेचने का तरीका

Udaipur Murder Case: कन्हैया लाल के बाद इस कारोबारी की गर्दन काटना चाहते थे दोनों जिहादी, 30 अन्य लोग भी थे शामिल

एक्टर के साथ कार में संबंध बनाती पकड़ी गयी प्रियंका चोपड़ा, निक जोनस रो-रोकर बुरा हाल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button