HomeTrendingGST Rate Hike:आम लोगों को महंगाई का झटका: दही-पनीर-लस्सी से लेकर आटा...

GST Rate Hike:आम लोगों को महंगाई का झटका: दही-पनीर-लस्सी से लेकर आटा और मांस-मछली तक, कई चीजों के बढ़े दाम

GST Rate Hike:आपको 18 जुलाई से बाजार का माहौल थोड़ा बदला हुआ लग सकता है। क्योंकि 18 जुलाई से कई ऐसी चीजें हैं जो महंगी हो जाएंगी। कुछ सर्विस भी महंगी हो जाएंगी।

इसका सीधा असर आपके बजट पर पड़नेवाला है। सोमवार से कई जरूरी चीजों के दाम बढ़ जाएंगे। ऐसे में आप घरेलू सामानों, होटल्स, बैंक सर्विसेज समेत अन्य पर अधिक खर्च करने के लिए तैयार रहें।

दरअसल वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) की अध्यक्षता में 47वीं जीएसटी बैठक में कई निर्णय लिए गए हैं। अब से आपको रोजाना खाने-पीने की चीजों के लिए ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी। इनकी कीमतें सोमवार से बढ़ जाएंगी।

जीएसटी बढ़ने के कारण बढ़ेंगी कीमतें

आम आदमी को महंगाई से अभी राहत मिलनेवाली नहीं है। डेली यूज के सामानों की दरों में वृद्धि का असर घरेलू बजट पर पड़ रहा है। भोजन के साथ-साथ कई चीजें लोगों की पहुंच से दूर हो रही हैं।

जीएसटी वृद्धि पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बड़े फैसले के बाद लोगों को आवश्यक खाद्य पदार्थों के लिए और भी अधिक भुगतान करना होगा।

GST Rate Hike:किन वस्तुओं के दाम में वृद्धि-

18 जुलाई से कुछ वस्तुओं और सेवाओं पर जीएसटी की दरें बढ़ेंगी। पनीर, लस्सी, बटर मिल्क, पैकेज्ड दही, गेहूं का आटा, अन्य अनाज, शहद, पापड़, अनाज, मांस और मछली के दाम में बढ़ोतरी होगी। इसके अलावा मुडी और गुड़ जैसे पूर्व-पैक लेबल सहित कृषि वस्तुओं की कीमतें भी 18 जुलाई से बढ़ने वाली हैं।

इन उत्पादों पर टैक्स बढ़ा दिया गया है। फिलहाल ब्रांडेड और पैकेज्ड फूड आइटम्स पर 5 फीसदी जीएसटी लगता है। बिना पैक और बिना लेबल वाले उत्पाद कर मुक्त हैं।

5% GST लगेगा

दही, लस्सी, पनीर, शहद, अनाज, मांस, मछली के दाम पर
अस्पताल में 5000 रुपए से अधिक किराए वाले कमरे पर
12% GST लगेगा

होटल के 1,000 रुपये प्रतिदिन से कम किराए वाले कमरे पर
मैप, एटलस और ग्लोब के रेट पर
मिट्टी से जुड़े उत्पाद पर, जो अभी 5% है
18% GST लगेगा

चेक बुक जारी करने पर बैंकों की ओर से लिए जाने वाले शुल्क पर
टेट्रा पैक पर, जो अभी 12% है
प्रिंटिंग/राइटिंग या ड्रॉइंग इंक, एलईडी लाइट्स, एलईडी लैम्प पर, जो अभी 12% है
ब्लेड, चाकू, पेंसिल शार्पनर, चम्मच, कांटे वाले चम्मच, स्किमर्स आदि पर, जो अभी 12% है
आटा चक्की, दाल मशीन पर, जो अभी 5% है
अनाज छंटाई मशीन, डेयरी मशीन, फल-कृषि उत्पाद छंटाई मशीन, पानी के पंप, साइकिल पंप, सर्किट बोर्ड पर, जो अभी 5% है
चिट फंड सेवा पर, जो अभी 12% है
ये सामान और सर्विस हुआ सस्ता

रोपवे के जरिये यात्रियों और सामान लेकर आने-जाने पर 5 फीसदी टैक्स, अभी 18 फीसदी है।

स्प्लिंट्स और अन्य फ्रैक्चर उपकरण, शरीर के कृत्रिम अंग, बॉडी इंप्लांट्स, इंट्रा ओक्यूलर लेंस आदि पर 12 फीसदी की जगह 5 फीसदी लगेगा।
डिफेंस फोर्सेज के लिए आयातित कुछ खास वस्तुओं पर आईजीएसटी नहीं लगेगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular